संविधान सभा का गठन (Constituent Assembly)

हेलो दोस्तों, हमारे इस Blog में आपका फिर से स्वागत है, हमारे इस ब्लॉग में आज हम आपको संविधान सभा का गठन (विस्तार से) । Indian Constitution in Hindi के बारे में बताएंगे, क्योकि हमने संविधान के बारे में सब कुछ जान लिया और संविधान सभा का गठन से अक्सर एग्जाम में प्रश्न पूछे जाते है, और हमे कही बार फ्री के नंबर दे कर कर जाते है, तो चलिए दोस्तों शुरू करते है

संविधान सभा । Indian Constitution in Hindi

संविधान सभा । Indian Constitution in Hindi
संविधान सभा । Indian Constitution in Hindi

संविधान सभा से जुड़े कुछ तथ्य । Indian Constitution in Hindi

संविधान सभा का गठन के समय संविधान सभा के सदस्यों की कुल संख्या 389 निश्चित की गई थी, जिनमें 292 ब्रिटिश प्रांतों के प्रतिनिधि, 4 चीफ कमिश्नर क्षेत्रों के प्रतिनिधि, 93 देशी रिसायतों के प्रतिनिधि थे।

जुलाई 1946 ई. में संविधान सभा का चुनाव हुआ, कुल 389 सदस्यों में से प्रांतों के लिए निर्धारित 296 सदस्यों के लिए चुनाव हुए, जिन्हें विभिन्न प्रांतों की विधानसभाओं द्वारा चुना गया। इसमें कांग्रेस को 208, मुस्लिम लीग को 73 स्थान, एवं 15 अन्य दलों के तथा स्वतंत्र उम्मीदवार निर्वाचित हुए !

9 दिसंबर 1940 ई. को संविधान सभा की प्रथम बैठक में दिल्ली स्थित काउंसिल चेंबर के पुस्तकालय भवन में हुई।

सभा के सबसे बुजुर्ग सदस्य डॉ सच्चिदानंद सिन्हा को सभा का अस्थाई सदस्य अध्यक्ष चुना गया।

मुस्लिम लीग ने इस बैठक का बहिष्कार किया और पाकिस्तान के लिए बिल्कुल अलग संविधान सभा की मांग प्रारंभ कर दी।

प्रांतो या देसी रियासतों को उनकी जनसंख्या के अनुपात में सविधान सभा में प्रतिनिधित्व दिया गया था, साधारणतया 10 लाख की आबादी पर एक स्थान का आमंत्रण दिया गया था।

प्रांतों का प्रतिनिधित्व मुख्यतः 3 प्रमुख संत समुदायों की जनसंख्या के आधार पर विभाजित किया गया था, यह समुदाय थे – मुस्लिम सिख एवं साधारण

संविधान सभा में ब्रिटिश प्रांतों के 296 प्रतिनिधियों का विभाजन सांप्रदायिक आधार पर किया गया – 213 सामान्य, 79 मुसलमान, तथा 4 सिख थे, संविधान सभा के सदस्यों में अनुसूचित जनजाति के सदस्यों की संख्या 33 थी।

संविधान सभा में महिला सदस्यों की संख्या 15 थी।

11 दिसंबर 1946 को डॉ राजेंद्र प्रसाद संविधान सभा के स्थाई अध्यक्ष निर्वाचित हुए।

संविधानसभा की कार्यवाही 13 दिसंबर 1946 को जवाहरलाल नेहरू द्वारा पेश किए गए उद्देश्य प्रस्ताव के साथ प्रारंभ हुई।

संविधान निर्माण की प्रक्रिया में कुल 2 वर्ष 11 महीना और 18 दिन का समय लगा, संविधान के प्रारूप पर कुल 114 दिन बहस हुई 

वर्तमान समय में संविधान में 22 भाग, 395 अनुच्छेद एवं 12 अनुसूचियां हैं।

संविधान को जब 26 नवंबर को 1949 को संविधान सभा द्वारा पारित किया गया, तब इसमें कुल 22 भाग, 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियां थी।

संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी 1950 को हुई, उसी दिन संविधान सभा के द्वारा डॉ राजेंद्र प्रसाद को भारत का प्रथम राष्ट्रपति चुना गया।

इसने 22 जुलाई 1947 को राष्ट्रीय ध्वज को अपनाया, इसने 24 जनवरी 1950 को राष्ट्रीय गान को एवं 26 जनवरी 1950 को राष्ट्रीय गीत को अपनाया।

26 जुलाई 1947 को गवर्नर जनरल ने पाकिस्तान के लिए पृथक संविधान सभा की स्थापना की घोषणा की।

FAQ SECTION

संविधान सभा में महिला सदस्यों की संख्या कितनी थी?

15

डॉ. राजेंद्र प्रसाद संविधान सभा के स्थाई अध्यक्ष कब निर्वाचित हुए?

11 दिसंबर 1946 को

संविधान निर्माण की प्रक्रिया में कुल कितना समय लगा?

2 वर्ष 11 महीना और 18 दिन

राष्ट्रीय ध्वज को कब अपनाया गया?

22 जुलाई 1947 को

राष्ट्रीय गान को कब अपनाया गया?

24 जनवरी 1950 को

राष्ट्रीय गीत को कब अपनाया गया?

26 जनवरी 1950

यह भी पढ़ेभारतीय संविधान के अधिनियम की सूची

दोस्तों आज हमने आपको संविधान सभा का गठन । Indian Constitution in Hindi के बारे मे बताया,आशा करता हूँ आपको यह आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा और आपको इससे बहुत कुछ सिखने को भी मिला होगा तो, दोस्तों मुझे अपनी राय कमेंट करके बताया ताकि मुझे और अच्छे अच्छे आर्टिकल लिखने का सौभग्य प्राप्त हो ,मुझे आपके कमेंट का इंतजार रहेगा ।धन्यवाद् ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here