मध्यकालीन भारत (Medieval India)

Contents

हेलो दोस्तों, हमारे इस Blog में आपका स्वागत है ! हमारे इस ब्लॉग में आपको मध्यकालीन भारत का सम्पूर्ण इतिहास (हिंदी में जाने)। Medieval History in Hindi, मुहम्मद बिन कासिम, महमूद गजनवी, मुहम्मद गोरी,  गुलाम वंश, खिलजी वंश, तुगलक वंश, सैय्यद वंश, लोदी वंश के बारे में बताएंगे, तो चलिए शुरू करते है

 

मध्यकालीन भारत । Medieval History in Hindi

 

मध्यकालीन भारत का सम्पूर्ण इतिहास (हिंदी में जाने)। Medieval History in Hindi
मध्यकालीन भारत का सम्पूर्ण इतिहास (हिंदी में जाने)। Medieval History in Hindi

भारत पर अरब का आक्रमण

मुहम्मद बिन कासिम Muhammad bin Qasim History In Hindi

अरबो ने 712 ई. मै सिन्ध पर आक्रमण किया था जो प्रथम मुस्लिम आक्रमण था !

इस समय सिंध का शासक दाहिर था !

इन आक्रमण का मुख्य उद्देश्य धन दौलत लूटना तथा इस्लाम धर्म का प्रचार प्रसार करना था !

भारत पर तुर्क आक्रमण

महमूद गजनवीMahmud Ghaznavi History In Hindi

अलप्तगीन नामक एक तुर्क सरदार ने गजनी साम्राज्य की स्थापना की थी !

इसके शासन काल में सर्वप्रथम भारत पर आक्रमण किया गया !

तुर्क आक्रमण के समय पंजाब मै शाही वंश का शासक जयपाल था !

महमूद गजनी सुबुक्तगीन का पुत्र था !

इसने भारत पर 17 बार आक्रमण किया था !

इसका भारत आक्रमण का मुख्य उद्देश्य धन की प्राप्ति था !

महमूद गजनी ने भारत पर प्रथम आक्रमण 1000 ई. मै किया था !

इसका सबसे चर्चित आक्रमण 1025 ई. मै सोमनाथ मंदिर पर हुआ था !

महमूद गजनी का अंतिम भारतीय आक्रमण 1027 ई. में जाटो के विरुद्ध हुआ !

सुल्तान की उपाधि धारण करने वाला प्रथम शासक महमूद गजनी था !

मुहम्मद गोरीMuhammad Ghori History In Hindi

मुहम्मद गोरी ने भारत पर पहला आक्रमण 1175  ई. में मुल्तान के विरुध्द किया था !

इसका दूसरा आक्रमण 1178 ई. पाटन (गुजरात) पर हुआ था !
 

सल्तनत कालDelhi Sultanate in Hindi

 गुलाम वंशSlave Dynasty in Hindi

इसकी स्थापना कुतुबुद्दीनऐबक ने 1206 ई. में  की थी! यह गोरी का गुलाम था !

इसने अपनी राजधानी लाहौर में बनाई थी !

कुतुबमीनार की नींव कुतुबुद्दीन ऐबक ने ही डाली थी !

कुतुबुद्दीन ऐबक ने ही ढाई दिन का झोपड़ा नामक मस्जिद का निर्माण कराया था !

कुतुबुद्दीन ऐबक को लाख बख्स (लाखो का दान देने वाला) भी कहा जाता है!

इसकी मृत्यु चौगान खेलते समय घोड़े से गिरकर हुयी थी और इसे लाहौर में दफनाया गया था !

खिलजी वंशKhilji Dynasty in Hindi

इस वंश की स्थापना जलालुद्दीन फिरोज खिलजी ने की थी!

घोड़े दागने एवं सैनिको का हुलिया लिखने की प्रथा की शुरुआत अलाउद्दीन खिलजी ने की थी !

इसने अपने शासन काल में मूल्य नियंत्रण प्रणाली को लागु किया !

अलाउद्दीन खिलजी ने जमैयत खाना मस्जित,अलाई दरवाजा,सीरी का किला, हजार खम्भा महल का  निर्माण करवाया था!

अलाई दरवाजा को इस्लामी वास्तुकला का रत्न कहा जाता है !

तुगलक वंश Tughlaq Dynasty in Hindi

गयासुद्दीन प्रथम ने सिंचाई के लिए कुऍ एवं नहरों का निर्माण करवाया था !

फिरोज तुगलक ब्राह्मणो पर जजिया लागु करने वाला पहला मुसलमान था !

सैय्यद वंशSayyid Dynasty In Hindi

सैय्यद वंश का संस्थापक खिज्र खां था !

लोदी वंशLodi Dynasty In Hindi

लोदी वंश का संस्थापक बहलोल लोदी था !

सिकंदर लोदी ने आगरा शहर की स्थापना 1504 ई. में की थी !

गजे सिकंदरी का प्रचलन सिकंदर लोदी ने ही किया था !

सिकंदर लोदी ने आगरा को अपनी नयी राजधानी बनाया था !

अलाउद्दीन खिलजी ने इक्ता प्रथा को समाप्त किया था !

इक्ता प्रथा की दोबारा शुरुआत फिरोज तुगलक ने की थी !

FAQ SECTION

Q.1. – सिंध पर प्रथम मुस्लिम आक्रमण किसने किया था?

Ans. – अरबो ने 712 ई. में

Q.2. – महमूद गजनी किसका पुत्र था?

Ans. – सुबुक्तगीन का

Q.3. – महमूद गजनी ने भारत पर प्रथम आक्रमण कब किया था?

Ans. – 1000 ई. में

Q.4. – सुल्तान की उपाधि धारण करने वाला प्रथम शासक कौन था?

Ans. – महमूद गजनी

Q.5. – कुतुबमीनार की नींव किसने डाली थी?

Ans. – कुतुबुद्दीन ऐबक ने

Q.6. – ढाई दिन का झोपड़ा नामक मस्जिद का निर्माण किसने कराया था?

Ans. – कुतुबुद्दीन ऐबक ने

Q.7. – लाख बख्स किसे कहा जाता है?

Ans. – कुतुबुद्दीन ऐबक को

Q.8. – सैय्यद वंश का संस्थापक कौन था?

Ans. – खिज्र खां

Q.9. – लोदी वंश का संस्थापक कौन था?

Ans. – बहलोल लोदी

Q.10. – इक्ता प्रथा को समाप्त किसने किया था?

Ans. – अलाउद्दीन खिलजी ने

यह भी पढ़ेभारत का प्राचीन इतिहास (Ancient history of india In Hindi)

दोस्तों, आज हमने आपको मध्यकालीन भारत का इतिहास (medieval history in hindi), मुहम्मद बिन कासिम का जीवन परिचय, महमूद गजनवी कौन था, मुहम्मद गोरी कौन था,  गुलाम वंश, खिलजी वंश, तुगलक वंश, सैय्यद वंश, लोदी वंश के बारे मे बताया, आशा करता हूँ आपको यह आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा और आपको इससे बहुत कुछ सिखने को भी मिला होगा , तो दोस्तों मुझे अपनी राय कमेंट करके बताया ताकि मुझे और अच्छे अच्छे आर्टिकल लिखने का सौभग्य प्राप्त हो मुझे आपके कमेंट का इंतजार रहेगा  !धन्यवाद् !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here