मृदा प्रदूषण क्या है? (हिंदी में जानिये) । Soil Pollution In Hindi

Contents

हेलो दोस्तों, हमारे ब्लॉक में आपका स्वागत है, आज हम जानेंगे मृदा प्रदूषण क्या है? । Soil Pollution In Hindi, मृदा प्रदूषण के कारण और मृदा प्रदूषण के प्रभाव तथा मृदा प्रदूषण के नियंत्रण के उपाय एवं जीवमंडल क्या है? । Biosphere In Hindi तथा जीवमण्डल में ऊर्जा तथा अजैवीय घटकों का प्रभाव।

मृदा प्रदूषण Soil Pollution In Hindi

मृदा प्रदूषण । Soil Pollution In Hindi
मृदा प्रदूषण । Soil Pollution In Hindi

मृदा प्रदूषण क्या है? Soil Pollution In Hindi

मृदा में विभिन्न प्रकार के लवण खनिज पदार्थ, कार्बनिक पदार्थ, गैसे एवं मृदा जल का एक निश्चित मात्रा एवं अनुपात में होते हैं। मृदा में इन पदार्थों की मात्रा एवं अनुपात में किन्ही कारणों से उत्पन्न अवांछनीय परिवर्तन मृदा प्रदूषण कहलाता है।

मृदा प्रदूषण के कारण Soil Pollution Causes in Hindi

  • 1 – घरों से निकलना कूड़ा करकट तथा अपशिष्ट पदार्थ।
  • 2 – सीसा तांबा पॉलिथीन की थैलियां कागज सड़ा हुआ भोजन पारा आदि।
  • 3 – अधिक मात्रा में कीटनाशक पदार्थों व उर्वरकों का प्रयोग।
  • 4 – कारखानों से निकले अपशिष्ट पदार्थ।
  • 5 – खुले स्थानों पर मल विसर्जन करना।
  • 6 – परमाणु परीक्षण तथा परमाणु संस्थानों से रिसाव आदि।

मृदा प्रदूषण के प्रभाव Soil Pollution Effects in Hindi

  • 1 – मृदा प्रदूषण के कारण भूमि बंजर हो जाती है, जिससे फसल उत्पादन कम हो जाता है।
  • 2 – मृदा प्रदूषण पौधों के अंदर पहुंचकर खाद्य श्रंखला के माध्यम से मानो या जंतु शरीर में पहुंचकर अनेक गंभीर रोग उत्पन्न करते हैं।

मृदा प्रदूषण के उपाय Soil Pollution Measures in Hindi

  • 1 – कृषि में उर्वरकों के बजाएं कंपोस्ट खाद का प्रयोग करना चाहिए।
  • 2 – परमाणु विस्फोटों पर रोक लगानी चाहिए परमाणु संस्थानों से रिसाव ना करें इसके लिए और अधिक सुरक्षित उपाय करें।
  • 3 – गांव में गोबर गैस सयंत्र लगाना चाहिए।
  • 4 – पेड़ पौधों के कटाव पर नियंत्रण होना चाहिए।

जीवमंडल Biosphere In Hindi

जीवमंडल । Biosphere In Hindi
जीवमंडल । Biosphere In Hindi

जीवमंडल क्या है? Biosphere In Hindi

जल थल तथा वायु का वह भाग जहां जीवन संभव है। जीवमण्डल कहलाता है। जीवमण्डल समुद्र तल से लगभग 6 किमी वायुमण्डल में पृथ्वी के पृष्ठतल से 8 किमी गहराई तक समुद्र में फैला है। तथा जल स्थल तथा वायु के इस 14 किमी विस्तार को जिसमें जीवधारी पाए जाते हैं, जीवमण्डल कहते हैं। जीवमण्डल एक ऐसी इकाई है, जिसमें जलमण्डल थलमण्डल तथा वायुमण्डल आते हैं। मनुष्य जीवमण्डल का एक भाग है और अपनी दैनिक आवश्यकताओ के लिए जीवमण्डल के विभिन्न घटकों पर निर्भर होता है।

जीवमण्डल में ऊर्जा तथा अजैवीय घटकों का प्रभाव

प्रत्येक पारितंत्र में जैवीय घटकों की उपस्थिति आवश्यक है। इन जैवीय घटकों में परस्पर विभिन्न प्रकार के संबंध होते हैं। जिनमें भोजन प्राप्त करने के लिए जीवो के मध्य बने आपसी संबंध सम्मिलित हैं। दूसरी और प्रत्येक जीव को जीवन से संबंधित क्रियाओं के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है। ऊर्जा भोजन के रूप में प्रत्येक जीव में प्रवेश करती है। इस भोजन या खाद्य पदार्थों का निर्माण पारितंत्र में उपस्थित हरे पौधे पर्णहरिम की उपस्थिति में प्रकाश संश्लेषण क्रिया द्वारा सौर ऊर्जा को रासायनिक ऊर्जा के रूप में अनुबंधित कर लेते हैं। इस प्रकार सूर्य का प्रकाश ही पृथ्वी पर तथा उसके पारितंत्र के लिए ऊर्जा का एकमात्र स्रोत है। पोषण की इस विधि को जिसमें ऊर्जा संचित करके कार्बन डाइऑक्साइड तथा जल जैसे सरल पदार्थों से खाद्य पदार्थों का निर्माण किया जाता है और जो हरे पौधों को स्वपोषी बना देती है पोषण की प्रथम रीति कहते हैं ।क्योंकि पौधे उर्जा को भोजन के रूप में अधिक मात्रा में संचित करते हैं। इसलिए उन्हें उत्पादक कहते हैं।

प्राकृतिक संसाधन का संरक्षण Conservation of Natural Resources in Hindi

”प्राकृतिक पारितंत्र का कोई भी घटक जिसका उपयोग मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए करता है”, प्राकृतिक संसाधन कहलाता है।

प्राकृतिक सम्पदाओं के संरक्षण के लिए उनके दोहन में सीमित तथा नियमित करना होगा कुछ आवश्यक सरक्षण निम्नलिखित विधियों द्वारा किये जाने चाहिए।

वन संरक्षण Forest Preservation in Hindi

वनों के विनाश से भूमि का अपरदन होता है जल का क्षरण होता है तथा बाढ़ आने का खतरा बढ़ जाता है। वनों का संरक्षण अति आवश्यक है। वनों को आग से बचाना चाहिए।

भूमि संरक्षण Land Conservation in Hindi

भूमि की उर्वरा शक्ति को बनाए रखना तथा मृदा अपरदन रोकना ही भूमि संरक्षण कहलाता है। इसके लिए फसल चक्र को अपनाना चाहिए सघन फसल को बोते रहना चाहिए। मृदा अपरदन को रोकने के लिए वृक्षारोपण करना चाहिए।

जल संरक्षण Water Conservation in Hindi

वृक्षारोपण तथा जंगलों को सुरक्षित रखना जल संरक्षण के लिए आवश्यक है। वृक्ष भूमिगत जल भण्डार को बनाए रखने के लिए भी आवश्यक है क्योंकि जल पौधों की जड़ों के सहारे भूमि में अधिक मात्रा में चला जाता है।

FAQ SECTION

सबसे खराब वायु प्रदूषण उत्पन्न करने वाला पदार्थ है?

कार्बन डाई ऑक्साइड

कितनी डेसीबल से अधिक ध्वनि होने पर ध्वनि प्रदूषण में शामिल किया जाना चाहिए

45 डिग्री डेसीबल से अधिक

कितने डेसीबल से अधिक की ध्वनि मानव कान को क्षति पहुंचा सकती है?

90 डेसीबल से अधिक

वायु प्रदूषण के कारण लोगों में फुफ्फुस कैंसर से अधिक मारने वाला रोग है?

वातस्फीति

उर्वरक के अत्यधिक प्रयोग से कौन सा प्रदूषण होता है

मृदा प्रदूषण, जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण

जल प्रदूषण क्या है?

प्रदूषित जल

Read Moreजल प्रदूषण क्या है? । Water Pollution In Hindi

Read Morehalf lidded eyes

दोस्तों आज हमने आपको मृदा प्रदूषण क्या है? । Soil Pollution In Hindi, मृदा प्रदूषण के कारण और मृदा प्रदूषण के प्रभाव तथा मृदा प्रदूषण के नियंत्रण के उपाय एवं जीवमंडल क्या है? । Biosphere In Hindi तथा जीवमण्डल में ऊर्जा तथा अजैवीय घटकों का प्रभाव के बारे मे बताया,आशा करता हूँ आपको यह आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा और आपको इससे बहुत कुछ सिखने को भी मिला होगा तो दोस्तों मुझे अपनी राय कमेंट करके बताया ताकि मुझे और अच्छे अच्छे आर्टिकल लिखने का सौभग्य प्राप्त हो मुझे आपके कमेंट का इंतजार रहेगा धन्यवाद्

1 thought on “मृदा प्रदूषण क्या है? (हिंदी में जानिये) । Soil Pollution In Hindi”

Leave a Comment